नाग पंचमी क्यों मनाएं…

84 लाख योनियों में मनुष्य योनि की तरह नाग योनि भी बहुत महत्वपूर्ण है। शेष नाग जिन्होंने धरती धारण कर रखा है। वासुकी जी जो समुद्र मंथन में लुप्त हुई विशिष्टता को निकालने के क्रम में जब देव-दानव इकट्ठा हुए तब उन्होंने मदरांचल के साथ मथनी की रज्जु बन सृष्टि के प्रक्रिया के सहभागी बने। यही वासुकी नाग भगवान शिव के गले के कंठाहर है।
★★★★★★

हिन्दु धर्म में सर्पो का यत्र- तत्र वर्णन मिलता है।
महाभारत ,पद्मपुराण,भागवत पुराण के अनुसार नाग पाताललोक के स्वामी होते है और साथ ही पंचमी के भी। सर्प किसानों के मित्र होते वह चूहे से किसान की फसलों की रक्षा करते है।

महाभारत और भागवतपुराण में कहा गया है कि जब परीक्षित को सर्प दंश हो गया। उनके पुत्र जन्मेजय ने सर्पो को सृष्टि से नष्ट करने की सौगंध खाई । तब सर्प ब्रह्मजी की शरण में गये और ब्रह्माजी ने उन्हें जो उपाय बताया वह दिन श्रावण मास की शुक्लपक्ष की पंचमी का दिन था।
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

जरत्कारु पुत्र आस्तीक ने जिस दिन सर्पो की रक्षा जन्मेजय के यज्ञ से रक्षा की वह दिन भी श्रावण मास के शुक्लपक्ष की पंचमी ही थी। जलते सर्प के ऊपर उन्होंने दुग्ध का छीटा मारा। ब्रह्म जी ने जरत्कारु पुत्र आस्तीक के लिए ही बताया था। जरत्कारु का विवाह तक्षक की बहन से हुआ था। सर्प रक्षा के कारण हिन्दू इसे त्योहार के रूप मानते है। सर्पो के प्रति आदर प्रकट करते है।

ज्योतिष के अनुसार इस दिन विधिवत नाग पूजन से कालसर्प दोष का निवारण हो जाता है। जो इस दिन पूजन करता है उसे सर्प दंश का भय भी नहीं रहता है। सबसे बढ़कर सभी प्रकार के जीव जंतु अपनी विशेषता के मनुष्य के सहभागी है और सहभागियो को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी मनुष्य पर ही है।
●●●●●●●●●●●●

2 thoughts on “नाग पंचमी क्यों मनाएं…

  1. आपका ब्लॉग लेख मेरे लिए और दूसरों के लिए मूल्यवान है। अपनी जानकारी साझा करने के लिए धन्यवाद!. Thank you for sharing your thoughts and knowledge Social Media Marketing. This is really helpful and informative, as this gave me more insight to create more ideas and solutions for my plan. I would love to see more updates from you.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s